मन को मंगल कामनाओं से भर देने को भगवान बुद्ध ‘मैत्री भावना’ कहते हैं !

🔔🔔🔔 मैत्री भावना 🔔🔔🔔 मन को मंगल कामनाओं से भर देने को भगवान बुद्ध ‘मैत्री भावना’ कहते हैं ! मैत्री भावना करनेवाला : — 1. सुख की नीँद सोता है 2. तरोताज़ा जागता है 3. दुःस्वप्न नहीँ आते 4. मनुष्योँ मेँ प्रिय होता है 5. अमनुष्योँ मेँ प्रिय होता है 6. देवता उसकी रक्षा करतेपढ़ना जारी रखें “मन को मंगल कामनाओं से भर देने को भगवान बुद्ध ‘मैत्री भावना’ कहते हैं !”

Create your website with WordPress.com
प्रारंभ करें