गौतमबुद्ध म्यूजिक प्रोडक्शन खदिया नगला भरखनी

Ishwar kahan hai ,, ईश्वर कहां है?

एक कदम शिक्षा की ओर–✍️✍️✍️ 1.👉जब भूख लगे तब भगवान नही रोटी की जरूरत पड़ती है, 2.👉जब प्यास लगे तब भगवान नही पानी की जरूरत पड़ती है, 3.👉जब दम घुटने लगे तब भगवान नही हवा की जरूरत पड़ती है, 4.👉जब ठिठुरन महसूस हो तब भगवान नही गर्म कपड़े या आग की जरूरत पड़ती है, 5.👉जबपढ़ना जारी रखें “Ishwar kahan hai ,, ईश्वर कहां है?”

Brahman kaun hai

🚫ब्राह्मण कौन? 🚫 ब्राह्मण दो शब्दों से मिल कर बना है वाराह +मण =वाराहमण वाराह का अर्थ है सुअर और मण का अर्थ गुह या गंदगी। 🐖इस प्रकार से ब्राह्मण का अर्थ है सुअर का गुह🐖 🐽ब्राह्मणों में ऊंच नीच जातियों का वर्गीकरण🐽 जिसके दो ✌️ या दो से ज्यादा बाप होते हैं उसे हीपढ़ना जारी रखें “Brahman kaun hai”

Create your website with WordPress.com
प्रारंभ करें